गणतंत्र दिवस ( भा ) का इतिहास 


गणतन्त्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व जो प्रति वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है। इसी दिन सन १९५० कोभारत का संविधान लागू किया गया था।


इतिहास

सन 1929 के दिसंबर में लाहौर में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अधिवेशन
 पंडित जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में हुआ जिसमें प्रस्ताव पारित
 कर इस बात की घोषणा की गई कि यदि अंग्रेज सरकार 26 जनवरी,
 1930 तक भारत को उपनिवेश का पद (डोमीनियन स्टेटस) नहीं प्रदान 
करेगी तो भारत अपने को पूर्ण स्वतंत्र घोषित कर देगा। 26 जनवरी, 1930 
तक जब अंग्रेज सरकार ने कुछ नहीं किया तब कांग्रेस ने उस दिन भारत
 की पूर्ण स्वतंत्रता के निश्चय की घोषणा की और अपना सक्रिय आंदोलन
 आरंभ किया। उस दिन से 1947 में स्वतंत्रता प्राप्त होने तक 26 जनवरी 
स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता रहा। तदनंतर स्वतंत्रता प्राप्ति
 के वास्तविक दिन 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में स्वीकार
 किया गया। 26 जनवरी का महत्व बनाए रखने के लिए विधान निर्मात्री
 सभा (कांस्टीट्यूएंट असेंबली) द्वारा स्वीकृत संविधान में भारत के 
गणतंत्र स्वरूप को मान्यता प्रदान की गई।

0 comments:

Post a Comment